योग एवं ध्यान शिविर

भारतवर्ष में योग और ध्यान की प्राचीन परंपरा रही है। भारतीय विषयों की इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए देश के प्रधानमंत्री श्रीमान नरेंद्र दामोदर दास मोदी ने योग और ध्यान के प्रति देश के लोगों को जागरूक किया है और योग को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाई है। उनके इस संकल्प को आगे बढ़ाने के लिए संस्था द्वारा योग और ध्यान के शिविरों का विभिन्न स्थानों पर आयोजन किया जाएगा, जिससे माननीय प्रधानमंत्री जी के संकल्प को साकार किया जा सके। योग करने से समस्त प्रकार के रोग समाप्त होते हैं। योग हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है, जिसके बिना हम अपने शरीर को स्वस्थ नहीं रख सकते हंै। शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग और ध्यान-दोनों ही अति आवश्यक हैंै। माननीय प्रधानमंत्री जी के इस संकल्प को आगे बढ़ाने हेतु संस्था के माध्यम से योग एवं ध्यान शिविरों का आयोजन किया जायेगा।